Uttar Pradesh Shramik Registration – उत्तर प्रदेश श्रमिक पंजीकरण

Uttar Pradesh Shramik Registration

यूपी सरकार ने श्रमिक पंजीकरण योजना का शुरू किया हैं। इस श्रमिक पंजीकरण  के अंतराल उत्तर प्रदेश स्टेट के सारे मजदूर वर्ग के लोगों को पंजीकृत करवाया जायेगा। इन पंजीकृत मजदूर वर्ग के लोगों को यूपी स्टेट गवर्नमेंट के माध्यम से प्रदान की जाने वाली सभी योजनाओ का लाभ मोहैया करवाया जायेगा। इस Uttar Pradesh Shramik Registration के अंतर्गत सारे श्रमिक मज़दूर आवेदन कर सकतें हैं। श्रमिक पंजीकरण योजना के सहायता से श्रमिको को बिना किसी परेशानीयों के कुछ सहायता मोहैया की जा सकेंगी। ये सहायता मजदूरो के बैंक अकाउंट में डाइरेक्ट बिना किसी उलझन के पहुंचाई जाएँगी। मौजूदा समय मे यूपी स्टेट गवर्नमेंट के द्वारा बारह हज़ार रुपए से ले के एक लाख रुपए तक की आर्थिक मदद प्रदान करवाई जाएगी। इन योजनाओ का लाभ लेने हेतु सारे श्रमिको को खुद का आवेदन श्रमिक पंजीकरण के आफ़िशीयल वेबसाइट के ऊपर करवाना होगा। आवेदन करने वाले की न्यूनतम आयु अट्ठारह साल और अधिकतम आयु साठ साल है।

Uttar Pradesh Shramik Registration से जुड़ी अन्य जनाकारियाँ ऐवं प्रमुखताएँ-

योजना का शीर्षकउत्तर प्रदेश श्रमिक पंजीकरण
किस स्टेट के गवर्नमेंट के द्वारा चालु की गई,उत्तर प्रदेश स्टेट गवर्नमेंट
लाभार्थी व्यक्तिराज्य के मजदूर वर्ग के लोग
पंजीकरण करने का तारिकाऑनलाइन
आफ़िशीयल वेबसाइट 

Uttar Pradesh Shramik Registration – यूपी श्रम विभाग आवेदन-

Uttar Pradesh Shramik Registration उत्तर प्रदेश स्टेट गवर्नमेंट के मज़दूर वर्ग के लोगों और उनके परिवारो के लिये बनवाया जा रहा हैं। ये श्रमिक कार्ड बनवाने हेतु श्रमिको को आफ़िशीयल वेबसाइट को ओपन करके वहाँ आनलाइन आवेदन कर देना होगा। आनलाइन आवेदन कर लेने के पश्चात श्रमिक व्यक्ति का श्रमिक कार्ड बन के आ जायेगा। आनलाइन आवेदन श्रमिक खुद से भी कर सकतें है या फिर जन सेवा केंद्रो के सहायता से भी किया जा सकता हैं। आनलाइन आवेदन को करने के लिये श्रमिको को किसी तरह की कोई भी समस्या को नही झेलना होगा। और नाहीं उन्हें किसी भी सरकारी विभागों और उनके दफ़्तरों के चक्कर लगाने पड़ेंगे। लाभार्थी श्रमिक घर पर बैठकर इंटरनेट के सहायता से खुद का पंजीकरण कर सकतें हैं। श्रमिक कार्ड के सहायता से श्रमिक के परिवार जनो को भी सरकारी योजनाओ से मिलने वाले सभी लाभ प्रदान करवाएँ जाएँगे।

Uttar Pradesh Shramik Registration के मुख्य उद्देश्य ऐवं लाभ

यूपी श्रमिक पंजीकरण के सहायता से श्रमिक लोग अपने आर्थिक ज़रूरतो को पूरा करने हेतु ऐवं अपने जीवन को आसानी से जीने के लिये मज़दूरी करते हैं तथा किसी भी निर्माण के क्षेत्र मे कार्य कर रहें हैं उन सभी लोगों को ज़रूरी मदद ऐवं लाभ पहुँचाने के लिये स्टेट गवर्नमेंट ने उत्तर प्रदेश श्रमिक रेजिस्ट्रेशन के तरीक़ों की शुरुआत की है। इस श्रमिक रेजिस्ट्रेशन के ज़रिये उत्तर प्रदेश स्टेट के मज़दूर लोगो ऐवं उनकी पुत्रियों और पुत्रों को यूपी श्रमिक पंजीकरण से जुड़ी हुई गवर्नमेंट योजनाओ से रूबरू करवाना है ऐवं उन्हे आर्थिक सुविधाएँ ऐवं मदद मोहैया करवाना हैं। यूपी टेट गवर्नमेंट के सारे श्रमिकों को अपना पंजीकरण करवाकर अपना श्रमिक कार्ड बनवा लेना है। और उससे मिलने वाले सभी लाभ भी ले सकतें है।

Uttar Pradesh Shramik Registration के  दूसरे फायदे

यू पी की सरकार के द्वारा मजदूरों हेतु कई अलग अलग योजनाओं को संचालित किया जा रहा है। उन योजनाओं का फायदा प्राप्त कर के मजदूर आत्मनिर्भर तथा सशक्त बन रहे हैं। उन योजनाओं से फायदा लेने के लिए श्रमिकों का पंजीकृत होना बहुत ही ज़रूरी है। श्रमिकों हेतु चलाई जा रही योजनाएं तथा उस के फायदे इस प्रकार हैं।

मुख्य मंत्री अभ्युदय योजना– इस योजना में मजदूर के बच्चे साथ ही प्रदेश के ऐसे बच्चे जो वित्तीय तंगी की वजह से कोचिंग प्राप्त करने में असमर्थ हैं उन्हें मुफ़्त में प्रतियोगी परीक्षाओं की कोचिंग दी जाती है।

बीमा कवर तथा आकस्मिक मृत्यु- इस योजना के अनुसार श्रमिकों की अकारण मृत्यु होने पर या विकलांग होने पर 2 लाख रुपए का बीमा कवर दिया जाता है। उस के साथ में उन्हें 5 लाख रूपए का स्वास्थ्य बीमा का कवर भी दिया जाता है।

प्रधान मंत्री गरीब कल्याण योजना- इस योजना के तहत 5 मई से मजदूरों को नि:शुल्क राशन वितरित किया जायेगा। कोरोना महामारी के दौरान वर्ष 2020 में सरकार की ओर से मुफ्त में राशन तथा श्रमिकों के भरण-पोषण के लिए भत्ता भी दिया जाएगा।

यू पी श्रम आयोग की ओर से की जाने वाली मदद- सरकार के द्वारा कोरोना संक्रमण को ध्यान में रखते हुए आर्थिक सहायता भी मिल रही है। उस से 54 लाख श्रमिकों को फायदा मिला है। राज्य में 40 लाख के आस पास श्रमिक वापस लौट कर आए हैं। उन सारे मजदूरों को भी वित्तीय मदद की गई है। उन सभी मजदूरों हेतु यू पी श्रम आयोग के द्वारा काम भी खोजा जायेगा।

बेटियों की शादी हेतु वित्तीय सहायता- सरकार की ओर से कन्या विवाह के लिए सहायता योजना भी चलाया जा रहा है। उस के तहत मजदूर की बेटियों के विवाह होने पर वित्तीय मदद की जाती है। उस के अलावा मजदूर के बच्चों को शिक्षा भी दी जाती है तथा उन्हें बिना किसी शुल्क के छात्रावास भी दिया जाता है। उस के तहत 18 संभागों में अटल आवासीय विद्यालय को भी स्थापित किया गया है।

श्रमिकों हेतु कोविड किट– साप्ताहिक कर्फ्यू के समय औद्योगिक इकाइयों का कार्य जारी रहेगा। उन सारी इकाइयों के अंदर कोविड हेल्पडेस्क को स्थापित किया जाएगा। उसके अलावा यदि किसी श्रमिकों को किसी तरह की परेशानी आने पर उन्हें उस हेल्प डेस्क से संपर्क कर के अपने परेशानी का निवारण कर सकेंगे। उसके अलावा काम करने वाले स्थान पर सैनिटाइजर,पल्स ऑक्सीमीटर, थर्मल स्कैनर आदि भी दिया जाएगा।

कौन कौन श्रमिक पंजीकरण करवा सकते है कार्य करने वाले-

  • छप्पर छाने वाले श्रमिक
  • बिल्डिंग बनाने वाले श्रमिक
  • कुआ खोदने वाले श्रमिक
  • कारपेंटर का कार्य करने वाले
  • राजमिस्त्री श्रमिक
  • प्लम्बर
  • लोहार
  • पुताई करने वाले श्रमिक
  • सड़क निर्माण का कार्य करने वाले श्रमिक
  • इलेक्ट्रिक के कामों  वाले श्रमिक
  • हतोड़ा चलाने वाले श्रमिक
  • चट्टान को तोड़ने वाले श्रमिक
  • भवनों के निर्माण के अधीन काम करने वाले श्रमिक
  • मोजैक पॉलिश करने वाले श्रमिक
  • पत्थर तोड़ने वाले श्रमिक
  • निर्माण के स्थान पर गार्ड की नौकरी करने वाले श्रमिक
  • लेखाकार के काम को करने वाले श्रमिक
  • बांध प्रबंधक श्रमिक
  • इट भट्टो के ऊपर इटों का निर्माण करने वाले श्रमिक
  • खिड़की ग्रिल और दरवाज़ो के गढ़ाई ऐवं उसके स्थापना को करने वाले श्रमिक
  • सीमेंट ऐवं पत्थर को ढोने का काम करने वाले श्रमिक
  • चुना बनाने का कार्य करने वाले श्रमिक

उत्तर प्रदेश के मज़दूर तक़रीबन 17 गवर्नमेंट योजनाओं से मिलने वाले लाभ ले सकतें है जैसे

  • मेधावी छात्र पुरुस्कार योजना
  • निर्माण कामगार बालिका मदद योजना
  • शिशु हितलाभ योजना
  • निर्माण श्रमिक भोजन सहायता योजना
  • संत रविदास शिक्षा सहायता योजना
  • मातृत्व हितलाभ योजना
  • आवासीय विद्यालय योजना
  • कौशल विकास तकनीकी योजना
  • चिकित्सा सुविधा योजना
  • सोर ऊर्जा सहायता योजना
  • आवास सहायता योजना
  • कन्या विवाह योजना
  • अक्षमता पेंशन योजना
  • गंभीर बीमारी सहायता योजना
  • निर्माण कामगार मृत्यु एवं विकलांगता सहायता योजना
  • पेंशन सहायता योजना
  • निर्माण कामगार अन्ते यष्टि योजना

Uttar Pradesh Shramik Registration उत्तर प्रदेश श्रमिक पंजीकरण स्टैटिसटिक्स

Registered labour (Total)Rs.93.92 lakh
Registered labour in 2020-2021Rs. 41.36 lakh
Renewed labour (Total)Rs. 62.70 lakh
Renewed labour in 2020-2021 (Total)Rs. 12.35 lakh
Verified scheme in 2020-2021 (Total)Rs. 31.55 lakh
Transfer amount in 2020-2021 (Total)Rs. 483.21 lakh

Uttar Pradesh Shramik Registration से मिलने वाले लाभ-

  • कन्या विवाह स्कीम के अंतराल दो बच्चियों के विवाह पर पचपन-पचपन हज़ार रुपए की आर्थिक मदद सरकार के द्वारा प्रदान करवाई जायेगी।
  • बी ए के छात्रों को तेरह से लेकर पंद्रह हज़ार रुपए और ऍम ए के छात्रों को पंद्रह से लेकर सत्रह हज़ार रुपए दिए जाएँगे।
  • मेधावी छात्र योजना के अंतराल कक्षा पाँच से सात तक चाट हज़ार रुपए ,कक्षा आठ मे पाँच हज़ार रुपए ,कक्षा नौ और दस मे पाँच हज़ार रुपए ,कक्षा ग्यारह ऐवं बारह में आठ हज़ार रुपए ,स्नातक से ऊपर इंजिनीयरिंग या किसी और डिग्री की पढाई करने पे ग्यारह हज़ार रुपए से बाईस हज़ार रुपए तक दिए जाएँगे।
  • मातृत्व हितलाभ योजना के अंतराल पंजीकृत महिलाओं को बारह हज़ार रुपए ऐवं शिशु लाभ के लिए लड़का होने पे दस हज़ार रुपए ऐवं लड़की होने पे बारह हज़ार रुपए की आर्थिक मदद को प्रदान करवाया जाएगा। 
  • आवास-विकास योजना के अंतराल मकान बनवाने के लिये एक लाख रुपए और मकान के मरम्मत के लिये पंद्रह हज़ार रुपए दिए जाएँगे।
  • इन सारे योजनाओं का लाभ श्रमिक वर्ग के लोग पंजीकरण करवा के आइवज श्रमिक कार्ड को बनवाने  के पश्चात मज़दूर लोग उठा सकतें हैं।

Uttar Pradesh Shramik Registration के लिए आवश्यक दस्तावेज़ ऐवं पात्रता-

  • आवेदनकर्ता उत्तर प्रदेश स्टेट का स्थाई नागरिक होना चाहिए।
  • श्रमिक आवेदनकर्ता की न्यूनतम एज अट्ठारह और अधिकतन एज साठ साल होनी चाहिये।
  • जिन श्रमिको ने पिछले बारह महीनों मे कम से कम नब्बे दिन तक निर्माण मज़दूर के रूप मे काम किया हो।
  • यूपी श्रमिक पंजीकरण मे सिर्फ़ परिवार के मुख़िया व्यक्ति के नाम पे ही यूपी श्रमिक कार्ड बनता हैं।
  • आवेदनकर्ता का आधार कार्ड
  • श्रमिक आवेदक का राशन कार्ड
  • श्रमिक आवेदक का मतदाता पहचान का पत्र
  • श्रमिक आवेदक का भामाशाह कार्ड
  • श्रमिक आवेदक का बैंक का विवरण
  • श्रमिक आवेदनकर्ता का मोबाइल नंबर
  • श्रमिक आवेदनकर्ता का पासपोर्ट साइज फ़ोटोग्राफ़
  • श्रमिक आवेदक के परिवार के सारे सदस्यो का पहचान पत्र

उत्तर प्रदेश श्रमिक पंजीकरण को कैसे करें?

यूपी राज्य के जो भी इच्छुक लाभार्थी श्रमिक अपने पंजीकरण को करना चाह रहें हैं तो वे नीचे दिए गये तरीक़ों का पालन करें और सारे सरकारी योजनाओं का लाभ उठायें।

प्रथम चरण

  • सबसे पहले आवेदन करने वाले श्रमिक को श्रम विभाग की आफ़िशीयल वेबसाइट को ओपन करना होगा।फिर श्रमिक लाभार्थी के समक्ष उत्तर प्रदेश स्टेट के लेबर डिपार्टमेंट की वेबसाइट ओपन होकर आ जायेगी।
  • फिर इसके पश्चात लाभार्थी श्रमिक के समक्ष आपके वेबसाइट का मेन होमपेज ओपन होकर आ जायेगा। ओपन हुए होमपेज के ऊपर लाभार्थी श्रमिक को अधिनियम प्रबंधन के प्रणाली का एक लिंक देखने को मिलेगा। दिए गए लिंक के ऊपर क्लिक के दें और आगे बढ़ जाएँ। 
  • फिर आवेदक के समक्ष Labour Act Management System की वेबसाइट ओपन होकर आ जाएगी। इसके पश्चात श्रमिक को अपने भाषा का चयन कर लेना होगा और फिर ओपन हुए वेबसाइट के ऊपर दिए गये निर्देशो को पढ़ना पड़ेगा और इसके पश्चात पोर्टल का उपयोग करने हेतु पोर्टल की सदस्यता  को प्राप्त करना होगा।
  • अगर श्रमिक न्यू यूज़र हैं तो Register Now के बटन के ऊपर क्लिक कर देना होगा फिर New Registration के दिए गए लिंक के ऊपर क्लिक कर दें। ओपन हुए फॉर्म मे श्रमिक को विवरण भरना है और  यूज़र आईडी ऐवं पासवर्ड को जनरेट करना है।
  • फिर इसके यूज़र नेम ऐवं पासवर्ड को उचित जगह डालकर लॉगिन कर लेना हैं। फिर इस पोर्टल के अंतराल आने वाले अधिनियमो के अंतराल पंजीयन, वार्षिक रिटर्न, नवीनीकरण, इत्यादि का उपयोग कर सकतें हैं। श्रमिक सबसे पहले एक्ट का चयन कर लें फिर पंजीकरण के आप्शन के ऊपर क्लिक करें।
उत्तर प्रदेश श्रमिक पंजीकरण
  • क्लिक कर देने के पश्चात नेक्स्ट पेज के ऊपर दिए गए निर्देश पढ़े फिर ‘I Have Read All Instruction Carefully ‘पर टिक करें और I Agree के आप्शन के ऊपर क्लिक कर दें।

द्वितीय चरण

  • फिर इसके पश्चात फॉर्म मे माँगी गई सारी जानकारियों को फॉर्म में फ़िल कर देना होगा। फॉर्म को फ़िल करने के पश्चात उसे सेव करें। सुरक्षित पंजीकरण पे जाके श्रमिक अपने सुरक्षित फॉर्म को देख सकतें हैं। फिर लाभार्थी श्रमिक अपने सुरक्षित फ़ार्म का चयन करके उसको सम्पादित कर सकतें हैं ऐवं जरुरी संलंगक लगा सकतें हैं भुकतान कर सकतें हैं इत्यादि।
  • अपलोड अटैचमेंट के बटन पर जाके श्रमिक जरुरी दस्तावेज़ को अटैच करके अपलोड कर सकतें हैं।  फिर chose file मे जा कर अपलोड अटैचमेंट को सेलेक्ट करें और ओपन करें फिर श्रमिक पेमेंट बटन पर जाके आवेदन नम्बर को डालके भुकतान के प्रकार का चयन कर सकतें हैं। भुगतान के प्रकार 2 तरह के हैं- पहला चालान दूसरा आनलाइन। चालान के ऊपर क्लिक करके श्रमिक चालान फ़ार्म को डाउनलोड कर सकतें हैं तथा आनलाइन सिलेक्ट करके प्रोसीड टू पेमेंट कर सकतें हैं।
  • आनलाइन सिलेक्ट करने पे अब श्रमिक राजकोष के वेबसाइट पे pay without Registration के ऊपर क्लिक करने के पश्चात डिपार्टमेंट को सिलेक्ट कर लें इसके पश्चात ड़िविज़न के कॉलम से जुड़ी क्षेत्रीय आफ़िस का नेम डाले फिर उसके पश्चात सेलेक्ट ट्रेज़री के कॉलम से जुड़ी हुईं जनपद के ट्रेज़री को चुन लें फिर डिपोज़िटर नाम मे फर्म का नाम डाल ले इसके पश्चात् सावधानी से जुड़े हुए अधिनियम के हेड के चयन का शुल्क दर्ज करें।
  • उसके पश्चात भुकतान करने के बाद चालान नम्बर ,तारीख़ ,बैंक का नाम इत्यादि को उचित जगह भरके सब्मिट बटन पर क्लिक कर दें। अब श्रमिक के application से जुड़े हुए उप श्रमयुक्त के पास प्रेषित हो चुका हैं। इस तरह से श्रमिक का आवेदन पूरा हो जाएगा।

आफ़लाइन श्रमिक पंजीकरण को करने का तरीक़ा– 

  • सबसे पहले श्रमिक को अपने ज़िले के श्रम विभाग के दफ़्तर में जाना होगा।
  • फिर श्रमिक को वहाँ से पंजीकरण फ़ार्म लेना होगा।
  • फिर इसके पश्चात श्रमिक आवेदनकर्ता को पंजीकरण फ़ार्म मे माँगी गई सारी आवश्यक जानकारियों को ध्यान से भर देना होगा। 
  • इसके पश्चात आवेदनकर्ता को सारें महत्वपूर्ण दस्तावेजो और काग़ज़ों को पंजीकरण फ़ार्म के साथ  अटैच कर देना होगा।
  • अब पंजीकरण फ़ार्म को श्रम विभाग मे जाकर जमा कर देना होगा।
  • इस तरह से श्रमिक आवेदक अपना पंजीकरण आफ़लाइन करवा पाएंगे।

Uttar Pradesh Shramik Registration आवेदन के स्थिति को देखना का तरीक़ा- 

  • सबसे पहले श्रमिक को यूपी भवन और अन्य सन्निर्माण कामगार कल्याण बोर्ड के आफ़िशीयल वेबसाइट को ओपन करना होगा।
  • वेबसाइट ओपन करने के पश्चात श्रमिक आवेदक के समक्ष मेन होमपेज ओपन होकर आ जाएगा।
  • होमपेज के ऊपर श्रमिक को स्कीम्स के आप्शन के ऊपर क्लिक कर देना होगा।
  • फिर इसके पश्चात श्रमिक को स्कीम एप्लीकेशन स्टेटस के दिए गए आप्शन के ऊपर क्लिक कर देना होगा।
Uttar Pradesh Shramik Registration
  • अब श्रमिक के समक्ष एक न्यू पेज ओपन होकर आ जाएगा।
  • ओपन हुए पेज के ऊपर अपने योजना के आवेदन नम्बर और पंजीयन नम्बर को दर्ज कर देना होगा।
  • फिर सबमिट के आप्शन के ऊपर क्लिक कर देना होगा।
  • पंजीकरण का स्टेट्स श्रमिक के कंप्यूटर स्क्रीन के ऊपर ओपन होकर आ जाएगी। 

रजिस्ट्रेशन नम्बर को वेरीफाई करने का तरीक़ा

  • सबसे पहले आवेदन करने वाले श्रमिक को श्रम विभाग की आफ़िशीयल वेबसाइट को ओपन करना होगा।फिर श्रमिक लाभार्थी के समक्ष उत्तर प्रदेश स्टेट के लेबर डिपार्टमेंट की वेबसाइट ओपन होकर आ जायेगी।
  • वेबसाइट ओपन करने के पश्चात श्रमिक आवेदक के समक्ष मेन होमपेज ओपन होकर आ जाएगा।
उत्तर प्रदेश श्रमिक पंजीकरण
  • फिर श्रमिक आवेदक को वेरीफाई रजिस्ट्रेशन नम्बर के दिए गए लिंक के ऊपर क्लिक कर देना होगा।
  • फिर इसके पश्चात श्रमिक को क्लिक हियर टू वेरीफाई रजिस्ट्रेशन नम्बर के लिंक के ऊपर क्लिक कर देना होगा।
Uttar Pradesh Shramik Registration
  • अब श्रमिक के समक्ष एक न्यू पेज ओपन होकर आ जाएगा। जिसमे श्रमिक आवेदक को एक्ट का चयन कर लेना होगा और रजिस्ट्रेशन नम्बर को दर्ज कर देना होगा।
  • फिर इसके पश्चात श्रमिक को सबमिट बटन के ऊपर क्लिक कर देना होगा।
  • इस तरह से श्रमिक का रजिस्ट्रेशन नम्बर वेरीफाई कर सकेंगे।

पंजीकरण को रिन्यू करने का तरीक़ा

  • सबसे पहले श्रमिक को यूपी भवन और अन्य सन्निर्माण कामगार कल्याण बोर्ड के आफ़िशीयल वेबसाइट को ओपन करना होगा।
  • वेबसाइट ओपन करने के पश्चात श्रमिक आवेदक के समक्ष मेन होमपेज ओपन होकर आ जाएगा।
  • होमपेज के ऊपर लेबर रिन्यूअल एप्लीकेशन के दिए गए आप्शन के ऊपर क्लिक के देना होगा। 
उत्तर प्रदेश श्रमिक पंजीकरण
  • अब श्रमिक के समक्ष एक न्यू पेज ओपन होकर आ जाएगा। जिसमे श्रमिक आवेदक को अपने पंजीयन नम्बर को दर्ज कर देना होगा। 
  • फिर इसके पश्चात श्रमिक को सर्च के आप्शन के ऊपर क्लिक कर देना होगा। 
  • फिर श्रमिक आवेदनकर्ता के समक्ष रिनुअल फ़ार्म ओपन होकर आ जाएगा। 
  • श्रमिक को इस रिन्यूअल फ़ार्म मे माँगी गई सारी आवश्यक जानकारियों को दर्ज के देना होगा।
  • फिर इसके पश्चात श्रमिक आवेदनकर्ता को सारे महत्वपूर्ण दस्तावेजो और काग़ज़ों को उचित जगह अपलोड कर देना होगा।
  • फिर सबमिट बटन के आप्शन के ऊपर क्लिक कर देना होगा।
  • इस तरह से श्रमिक अपना पंजीकरण रिन्यू कर सकेंगे।

नवीनीकरण का पंजिकरण और उसकी स्थिति को देखने का तरीक़ा

  • सबसे पहले श्रमिक को यूपी भवन और अन्य सन्निर्माण कामगार कल्याण बोर्ड के आफ़िशीयल वेबसाइट को ओपन करना होगा।
  • वेबसाइट ओपन करने के पश्चात श्रमिक आवेदक के समक्ष मेन होमपेज ओपन होकर आ जाएगा।
  • ओपन हुए होमपेज के ऊपर आवेदनकर्ता को श्रमिक के आप्शन के ऊपर क्लिक के देना होगा। 
  • फिर इसके पश्चात श्रमिक को नवीनीकरण का आवेदन एवं स्थिति के दिए गए आप्शन के ऊपर क्लिक कर देना होगा।
  • अब श्रमिक के समक्ष एक न्यू पेज ओपन होकर आएगा जिसमे श्रमिक आवेदनकर्ता को अपना पंजीयन नम्बर दर्ज कर देना होगा।
  • अब श्रमिक को सर्च के आप्शन के ऊपर क्लिक कर देना होगा। 
  • संबंधित जानकरियाँ श्रमिक के कंप्यूटर स्क्रीन के ऊपर ओपन होकर आ जाएगा।

पंजीयन के स्थिति को देखने का तरीक़ा

  • सबसे पहले श्रमिक को यूपी भवन और अन्य सन्निर्माण कामगार कल्याण बोर्ड के आफ़िशीयल वेबसाइट को ओपन करना होगा।
  • वेबसाइट ओपन करने के पश्चात श्रमिक आवेदक के समक्ष मेन होमपेज ओपन होकर आ जाएगा।
  • होमपेज के ऊपर आवेदनकर्ता को श्रमिक के आप्शन के ऊपर क्लिक कर देना होगा।
  • फिर इसके पश्चात श्रमिक को पंजीयन के स्थिति के आप्शन के ऊपर क्लिक कर देना होगा। 
  • फिर इसके पश्चात श्रमिक को पंजीयन नम्बर या फिर आवेदन नम्बर और मोबाइल नम्बर को दर्ज कर देना होगा। 
  • अब दिए गए सर्च के आप्शन के ऊपर श्रमिक को क्लिक कर देना होगा।
  • पंजीयन के स्थिति श्रमिक के कंप्यूटर स्क्रीन के ऊपर ओपन होकर आ जाएगी। 

अपने आवेदन/पंजीयन नम्बर को जानने का तरीक़ा

  • सबसे पहले श्रमिक को यूपी भवन और अन्य सन्निर्माण कामगार कल्याण बोर्ड के आफ़िशीयल वेबसाइट को ओपन करना होगा।
  • वेबसाइट ओपन करने के पश्चात श्रमिक आवेदक के समक्ष मेन होमपेज ओपन होकर आ जाएगा। 
  • ओपन हुए होमपेज के ऊपर आवेदनकर्ता को श्रमिक के आप्शन के ऊपर क्लिक के देना होगा। 
  • अब श्रमिक को अपनी आवेदन/पंजीयन नम्बर के आप्शन के ऊपर क्लिक कर देना होगा।
उत्तर प्रदेश श्रमिक पंजीकरण
  • फिर आवेदनकर्ता के समक्ष एक न्यू पेज ओपन होकर आ जाएगा।
  • ओपन हुए पेज के ऊपर श्रमिक अपने आधार कार्ड के नम्बर एवं अपने मोबाइल नम्बर को दर्ज कर दें और आगे बढ़े।
  • अब दिए गए सर्च के आप्शन के ऊपर क्लिक कर देना होगा।
  • संबंधित जानकरियाँ श्रमिक के कंप्यूटर स्क्रीन के ऊपर ओपन होकर आ जाएगी।

श्रमिक पंजीयन ऑर संशोधन को करने का तरीक़ा– 

  • सबसे पहले श्रमिक को यूपी भवन और अन्य सन्निर्माण कामगार कल्याण बोर्ड के आफ़िशीयल वेबसाइट को ओपन करना होगा।
  • वेबसाइट ओपन करने के पश्चात श्रमिक आवेदक के समक्ष मेन होमपेज ओपन होकर आ जाएगा। 
  • फिर इसके पश्चात श्रमिक आवेदनकर्ता को श्रमिक पंजीयन/संशोधन के आप्शन के ऊपर क्लिक कर देना होगा। 
Uttar Pradesh Shramik Registration
  • अब श्रमिक के समक्ष एक न्यू पेज ओपन होकर आ जाएगा।
  • ओपन हुए पेज के ऊर निम्नलिखित जानकारियों को दर्ज करें
  • आधार कार्ड का नम्बर या फिर आवेदन ऑर पंजीयन नम्बर
  • जनपद
  • मंडल
  • मोबाइल नम्बर
  • फिर श्रमिक आवेदनकर्ता को आवेदन ऑर संशोधन करें के आप्शन के ऊपर क्लिक कर देना होगा।
  • फिर इसके पश्चात श्रमिक के समक्ष आवेदन फ़ार्म ओपन होकर आ जाएगा।
  • अब ओपन हुए फ़ार्म मे श्रमिक आवेदनकर्ता संशोधन कर सकतें हैं।

श्रमिकों के लिये उपलब्ध योजनाओ के लिस्ट को देखने का तरीक़ा

  • सबसे पहले श्रमिक को यूपी भवन और अन्य सन्निर्माण कामगार कल्याण बोर्ड के आफ़िशीयल वेबसाइट को ओपन करना होगा।
  • वेबसाइट ओपन करने के पश्चात श्रमिक आवेदक के समक्ष मेन होमपेज ओपन होकर आ जाएगा। 
उत्तर प्रदेश श्रमिक पंजीकरण
  • होमपेज के ऊपर श्रमिक आवेदनकर्ता को स्कीम्स के आप्शन के ऊर क्लिक कर देना होगा।
  • फिर इसके पश्चात श्रमिक को ऑल स्कीम्स के आप्शन के ऊपर क्लिक कर देना होगा। 
  • जैसे ही श्रमिक इस आप्शन के ऊपर क्लिक करेंगे उनके समक्ष सारे स्कीम्स की लिस्ट ओपन होकर आ जाएगी।

लाभार्थी लिस्ट को देखने का तरीक़ा– 

  • सबसे पहले श्रमिक को यूपी भवन और अन्य सन्निर्माण कामगार कल्याण बोर्ड के आफ़िशीयल वेबसाइट को ओपन करना होगा।
  • वेबसाइट ओपन करने के पश्चात श्रमिक आवेदक के समक्ष मेन होमपेज ओपन होकर आ जाएगा। 
  • होमपेज के ऊपर श्रमिक आवेदनकर्ता को स्कीम्स के आप्शन के ऊर क्लिक कर देना होगा।
  • अब दिए गए श्रमिकों को लिस्ट ऑफ लेबरर्स बेनिफिटेड फ्रॉम स्कीम लिंक के उओर क्लिक कर देना होगा। 
Uttar Pradesh Shramik Registration
  • फिर इसके पश्चात श्रमिकों को जनपद ऐवं योजना का चयन कर लेनाहोगा।
  • फिर दिए गए सबमिट बटन के ऑप्शन के ऊपर क्लिक कर देना होगा।
  • इस तरह से लाभार्थी लिस्ट श्रमिकों के कंप्यूटर स्क्रीन के ऊपर ओपन होकर आ जाएगी।

श्रमिकों की लिस्ट (जनपद वार/ब्लॉक वार) को देखने का तरीक़ा

  • सबसे पहले श्रमिक को यूपी भवन और अन्य सन्निर्माण कामगार कल्याण बोर्ड के आफ़िशीयल वेबसाइट को ओपन करना होगा।
  • वेबसाइट ओपन करने के पश्चात श्रमिक आवेदक के समक्ष मेन होमपेज ओपन होकर आ जाएगा। 
  • ओपन हुए होमपेज के ऊपर आवेदनकर्ता को श्रमिक के आप्शन के ऊपर क्लिक के देना होगा। 
उत्तर प्रदेश श्रमिक पंजीकरण
  • इसके पश्चात श्रमिक आवेदनकर्ता को श्रमिकों की सूची (जनपद वार/ब्लॉक वार) लिंक के ऊपर क्लिक कर देना होगा। 
  • फिर इसके पश्चात श्रमिकों के समक्ष एक न्यू पेज ओपन होकर आ जायेगा।
  • श्रमिकों को इस पेज के ऊपर खुद का नगर निकाय, जनपद, विकास खंड और कार्य के प्रकृति का चयन कर लेना होगा।
  • अब दिए गए सबमिट बटन के आप्शन के ऊपर क्लिक कर देना होगा।
  • इस तरह से श्रमिको की लिस्ट ओपन होकर कंप्यूटर स्क्रीन के उओर आ जाएगी।

आधार के सत्यापन करने का तरीक़ा

  • सबसे पहले श्रमिक को यूपी भवन और अन्य सन्निर्माण कामगार कल्याण बोर्ड के आफ़िशीयल वेबसाइट को ओपन करना होगा।
  • वेबसाइट ओपन करने के पश्चात श्रमिक आवेदक के समक्ष मेन होमपेज ओपन होकर आ जाएगा। 
  • ओपन हुए होमपेज के ऊपर आवेदनकर्ता को श्रमिक के आप्शन के ऊपर क्लिक के देना होगा। 
  • अब श्रमिक आवेदनकर्ता को अपने आधार सत्यापित करे के आप्शन के upar क्लिक कर देना हींग।
  • फिर इसके पश्चात श्रमिक के समक्ष एक न्यू पेज ओपन होकर आ जाएगा।
  • इस पेज के ऊपर श्रमिक को अपने मंडल, पंजीयन नम्बर, आधार कार्ड नम्बे, नाम, पिता या फफिर पति का नाम, लिंग, जन्म की तिथि, ऐज इत्यादि को उचित जगह दर्ज कर देना होगा।
  • फिर श्रमिक आवेदक को आधार सत्यापन के आपशक के ऊपर क्लिक कर देना होगा।
  • इस तरह से श्रमिक खुद के आधार को सत्यापित कर सकतें हैं।

शिकायत को कैसे दर्ज करें?

  • सबसे पहले आवेदन करने वाले श्रमिक को श्रम विभाग की आफ़िशीयल वेबसाइट को ओपन करना होगा।फिर श्रमिक लाभार्थी के समक्ष उत्तर प्रदेश स्टेट के लेबर डिपार्टमेंट की वेबसाइट ओपन होकर आ जायेगी।
  • फिर इसके पश्चात लाभार्थी श्रमिक के समक्ष आपके वेबसाइट का मेन होमपेज ओपन होकर आ जायेगा।
  • इस होमपेज के ऊपर श्रमिक को ग्रीवांस का एक आप्शन दिखाई देगा। आवेदनकर्ता दिए गए आप्शन के ऊपर क्लिक कर देना होगा। आप्शन के ऊपर क्लिक कर देने के पश्चात पोर्टल के ऊपर एक न्यू पेज ओपन होकर आ जाएगा। 
उत्तर प्रदेश श्रमिक पंजीकरण
  • इसके पश्चात न्यू पेज के ऊपर श्रमिक को add new grievance का आप्शन देखने को मिलेगा। श्रमिक  दिए गए इस लिंक के ऊपर क्लिक कर दें।लिंक के ऊपर क्लिक कर देने के पश्चात श्रमिक के समक्ष नेक्स्ट पेज ओपन होकर आ जाएगा। 
  • इस पेज के ऊपर शर्मिकों को शिकायत दर्ज़ करने हेतु एक फ़ार्म देखने को मिलेगा। श्रमिकों को इस फ़ार्म मे पूछी गई सारी जानकारियों को जैसे कि शिकायत, शिकायत के प्रकार, नाम, लिंग, ईमेल , मोबाइल नम्बर, ज़िला, एड्रेस, शिकायत को दर्ज करें इत्यादि को फ़िल करना होगा।
  • सारी जानकारियों को उचित जगह फ़िल कर देने के पश्चात सबमिट बटन के ऊपर क्लिक कर देना होगा। इस तरह से श्रमिक शिकायत दर्ज़ कर सकतें हैं।

Leave a Comment